बिटकॉइन में पैसा लगाने वाले 9800 लोगों को IT नोटिस

0
16
बिटकॉइन में पैसा लगाने वाले 9800 लोगों को IT नोटिस

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बिटकॉइन और ऐसी ही क्रिप्टोकरंसीज में निवेश करने वाले करीब 9,800 लोगों को टैक्स नोटिस भेजा है। यह कार्रवाई देशभर में सर्वे के बाद की गई है। इनकम टैक्स विभाग के अनुसार, 17 महीने में इन क्रिप्टोकरंसी में करीब 25 हजार करोड़ रुपये (3.5 अरब डॉलर) के सौदे किए गए हैं। इनकम टैक्स सूत्रों के अनुसार, इन लोगों को निवेश का ब्योरा देने को कहा गया है और इनसे पूछा गया है कि क्या इन्होंने इस निवेश का ब्योरा सरकार को दिया है। क्या आईटी रिटर्न में इसका जिक्र किया गया है। इनकम टैक्स के उच्चाधिकारियों का कहना है कि यह मामला फिलहाल टैक्स चोरी से जुड़ा है। अगर किसी ने अपनी आमदनी से ज्यादा इसमें निवेश किया है तो मामला ब्लैकमनी का भी बन सकता है।

बिटकॉइन में पैसा लगाने वाले 9800 लोगों को IT नोटिस

सूत्रों के अनुसार, मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु और पुणे जैसे शहरों और देश के नौ एक्सचेंज से मिले डेटा के अनुसार बिटकॉइन और ऐसी ही क्रिप्टोकरंसीज में सबसे ज्यादा निवेश टेकसेवी युवाओं, रियल स्टेट प्लेयर सहित जूलरों ने भारी निवेश किया है। इन लोगों को फिलहाल नोटिस भेजा गया है और इनको 15 दिनों के भीतर इस नोटिस का जवाब देना है। अगर किसी ने तय समय में नोटिस का जवाब नहीं दिया, तो इनकम टैक्स महकमा सीधे कार्रवाई करेगा। इनकम टैक्स विभाग ने बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरंसी में निवेश करने वालों से कैपिटल गेन टैक्स की मांग की है। इसके अलावा उनकी होल्डिंग और फंड के सोर्स के बारे में भी जानकारी मांगी गई है। बिटकॉइन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरंसी है, जो एक साल में 1700 फीसदी तक महंगी हुई है। इसने पिछले साल अपना ऑलटाइम हाई 20 हजार डॉलर प्रति बिटकॉइन का बनाया था। इसके तेजी से बढ़ने से निवेशक ज्यादा आकर्षित हो रहे हैं। दुनियाभर की सरकारें और रेग्युलेटर बिटकॉइन और ऐसी ही क्रिप्टोकरंसीज में बढ़ते निवेश से चिंतित हैं। आगामी मार्च में अर्जेंटीना में होने वाली G-20 समिट में भी इस मुद्दे पर भी चर्च की जाएगी। भारत में सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक कई बार क्रिप्टोकरंसीज पर निवेश न करने को लेकर सलाह दे चुका है। सरकार का कहना है कि इसमें निवेश पोंजी स्कीम्स में निवेश करने जैसा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here