राम मंदिर प्रकरण : सुप्रीम कोर्ट का फैसला ही सर्वमान्य होगा, मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड किसी भी सुलह समझौते को मानने के लिए तैयार नहीं

0
31

राम मंदिर विवाद को कोर्ट के बाहर सुलझाने के उद्देश्य से गुरूवार को आर्ट ऑफ़ लिविंग के श्री श्री रविशंकर प्रसाद ने मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के सदस्यों से मुलाक़ात की जिसमे बोर्ड का अंतिम फैसला कोर्ट के ही फैसलों को मानने के लिए राजी हुआ हालांकि बोर्ड के एक सदस्य मौलाना सैय्यद हुसैन नदवी ने मस्जिद दूसरी  जगह बनाने की इच्छा व्यक्त की |

बोर्ड के इस तीन दिवसीय २६वे अधिवेशन  में बोर्ड के कार्यकारी सदस्य एवं आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम ) सांसद असुददीन ओवैसी ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि पर्सनल ला बोर्ड अपनी दिसम्बर १९९० और जनवरी १९९३ के प्रस्तावों पर अटल है इसमें कोई बदलाव नही होगा तथा उन्होंने बोर्ड के बयान भी पढ़कर सुनाये |

अंतत: श्री श्री रविशंकर प्रसाद जी अपने प्रयासों में पूरी तरह से असफल रहे  |  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here